शनिवार, नवंबर 19, 2005

कमबख्त

शब्द कहाँ से और कैसे बनते हैं? कमबख्त शब्द कहाँ से आया? कई दिनों से यह बात मेरे दिमाग में घूम रही है कमबख्त के बारे में. कमबख्त किसी की कोसने के लिए या किसी को हल्की सी गाली देने के लिए कहते हैं.

शब्द का अर्थ समझने के लिए शब्द का संधी भेद करना आवश्यक है तो कमबख्त शब्द बना है कम और बख्त से. शायद इसका अर्थ हो "कम वक्त", जिसमें वक्त शब्द का पँजाबीकरण होते होते वह बख्त हो गया? पर किसी को यह कहना कि "तू कम+वक्त है" में गाली देने की क्या बात हुई? क्या भारत के ऋषी मुनियों ने आने वाले जीवन की भागा दौड़ी और उसमें फँसे प्राणियों की नियति जिनके पास जितना "समय बचाने" के उपकरण होंगे उतना ही समय कम होगा की भविष्यवाणी करते हुए कमबख्त शब्द का श्राप के रुप आविष्कार किया था?

या फिर बख्त शब्द बतख शब्द से बना है? यह तो मानना पड़ेगा कि बख्त और बतख शब्दों में गम्भीर फर्क है पर ऐसी भूल गुस्से मे हो सकती है कि शब्द कुछ बिगड़ कर निकलें. सोचिये कि एक बार कहीं कोई बतख वाला था जिसके पास बहुत बतखें थीं और एक दिन गुस्से में उनके अब्बू ने उन्हे बद् दुआ दी कि तेरी बतखें कम हो जायें पर उनके मुख से बजाये कम बतख के कमबख्त निकला और भूल से निकला यह शब्द उन्हें बहुत भाया, तब से वह जब किसी पर गुस्सा होते उसे कमबख्त कहते. धीरे धीरे इस नई गाली की प्रसिद्धि सारे देश में फैल गयी.

कुछ बात जमी नहीं इन बतखों की. शेखचिल्ली की कहानी लगती है.

या फिर यह शब्द बना काम + बख्त से? यानि कि तेरा काम बख्त हो जाये या कि तुम सारे काम बख्त कर देते हो? दुर्भाग्यवश शब्दावली बख्त शब्द का अर्थ नहीं देती पर यह तो मानना पड़ेगा कि "बख्त" सुन कर मन में कुछ बिगड़ने या नष्ट होने की छवि उभरती है.

मानता हूँ ऐसे शब्द के बारे में सोचना शोभनीय नहीं है. मुझे अपनी उम्र और गम्भीर छवि को देखते हुए, सोचने के लिए और भी हजारों गम्भीर शब्द मिल सकते हैं शब्दावली में, पर क्या करूँ अगर कमबख्त दिमाग मेरी सुनता ही नहीं और अपने सोवने के विषय स्वयं ही चुनता है?

आप सोच कर बताईये कि यह कमबख्त शब्द कैसे बना?

चूँकि आज बतखों की बात हुई है तो तस्वीरें भी बतखों की हैं.


4 टिप्‍पणियां:

  1. मेरे ख्याल से कमबख्त हिन्दी या संसकृत का शब्द नही है. यह अरबी या फारसी से आया है.


    आशीष

    उत्तर देंहटाएं
  2. bakht = good fortune, luck, prosperity.
    Kambakht = kam + bakht => unlucky, bad fortune, not prosperous.

    उत्तर देंहटाएं
  3. बख़्त का अर्थ है भाग्य, और कमबख़्त का अर्थ अभागा, या कम भाग्य वाला। इस से बने अन्य शब्द हैं बख़्तावर (भाग्यशाली), बदबख़्त (दुर्भाग्यशाली), आदि।

    उत्तर देंहटाएं
  4. काफ़ी रोचक जानकारी मिली इस चर्चा से.

    कई बार शब्दों का ऑपरेशन करें तो कई नई जानकारियाँ मिलती हैं. उदाहरण के लिए बिहार के कुछ हिस्सों में प्रचलित दो शब्दों को लेते हैं-

    पहला शब्द है कुटाइम(बुरा वक़्त)- यह हिंदी के कु और अंग्रेजी के टाइम को मिलाने से बना है. उदाहरण- जब कुटाइम चल रहा हो तो एक भी क़दम सही नहीं पड़ता.

    दूसरा शब्द है- बमलेटरा(बायें हाथ से काम करने वाला या खब्बू)- यह बायें>बाम>बम और लेटर>लेटरा (मतलब पत्र-लेखन या लेखन से रहा होगा) को मिलाने से बना है. उदाहरण- बमलेटरा बैट्समैन के लिए अलग तरह से फ़िल्डिंग लगानी पड़ती है.

    हिंदी-अंग्रेजी का क्या अदभुत मिलन होता है बिहार में. बहुत ही ज़्यादा क्रिएटिव. मज़ा आ जाता है.

    नरभसाना और कनफ़ुज़ियाना जैसे हज़ारों 'विचित्र किंतु सत्य' शब्द ही नहीं, बल्कि 'विचित्र किंतु प्रचलित' शब्द हैं बिहार के लोकजीवन में.

    उत्तर देंहटाएं

"जो न कह सके" पर आने के लिए एवं आप की टिप्पणी के लिए धन्यवाद.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...