सोमवार, मार्च 20, 2006

देबाषीश का लेख

१२ मार्च के जिस लेख की बात की थी वह जनसत्ता में नहीं अंग्रेजी के अखबार The Asian Age (sunday supplement) में निकला था. क्योंकि हिंदी के चिट्ठों की बात थी, और मुझे मालूम था कि छोटी बहन का यहाँ "जनसत्ता" आता है, मैंने स्वयं ही तुक लगा लिया था कि लेख जनसत्ता में निकला होगा.

उस लेख को स्केन करके आपको दिखाने में मैं असमर्थ हूँ पर शायद कोई उसे The Asian Age के वेबपृष्ठ से ढ़ुँढ़ सकता है ? मैंने कोशिश की पर सफलता नहीं मिली.

2 टिप्‍पणियां:

  1. 12th मार्च का अखबार तो ये रहा अब तो ढूंढ ही लोगे।
    कोई दिन आगे पीछे करना हो तो selpg की वैल्यू को घटा बढा लेना।

    उत्तर देंहटाएं
  2. जीतू भाई, देबू भईया का जो लेख बतिया रहे हो, कहीं वह यह तो नहीं? पर यह देबू भईया ने नहीं लिखा है, यह सज्जन तो कोई और ही हैं, हाँ देबू भाई का सचित्र ज़िक्र अवश्य इसमें है। :)

    उत्तर देंहटाएं

"जो न कह सके" पर आने के लिए एवं आप की टिप्पणी के लिए धन्यवाद.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...